/उल्हासनगर में ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल और बुजुर्ग बीच जमकर हुई मारामारी, वीडियो वायरल

उल्हासनगर में ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल और बुजुर्ग बीच जमकर हुई मारामारी, वीडियो वायरल

गाडी टो करने को लेकर हुआ था विवाद

By -

मुंबई से सटे ठाणे के उल्हासनगर में ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल और बुजुर्ग के बीच जमकर मारामारी हुई है। दोनों के बीच हुई मारामारी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। ये वीडियो उल्हासनगर सेक्टर 17 रविवार का है। कांस्टेबल और बुजुर्ग के बीच गाडी टो पर विवाद हुआ था। जिसके बाद गुस्साए कांस्टेबल ने 65 वर्षीय बुजुर्ग को थप्पड़ जड़ दिया। जवाब में बुजुर्ग जवाहर लुल्ला ने भी पुलिस कांस्टेबल बलिराम पाटिल पर हाथ छोड़ दिया। दोनों के बीच हुए मारामारी में गाडी मालिक जवाहर लुल्ला जख्मी हो गए है। जिनका पास के ही अस्पताल में उपचार चल रहा। बीच सड़क पर दोनों के बीच हुए मारामारी को पास में खड़े लोगों ने अपने मोबाइल कैमरे में कैद कर लिया है।

क्या है पूरा मामला ?

मिली जानकारी के मुताबिक उल्हासनगर सेक्टर 17 में गाड़ी मालिक जवाहर लुल्ला 65 सड़क किनारे नो पार्किंग जोन में अपना स्कूटी पार्क किया था। तभी वेहिकल टो वैन से पहुंचे ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल बलिराम पाटिल ने वैन के कर्मचारियों को जवाहर लुल्ला की हौंडा एक्टिवा गाडी को टो करने का आदेश दिया। जिसके बाद कर्मचारियों ने एक्टिव को टो कर वैन पर रख। गाडी मालिक जवाहर लुल्ला ने दावा किया जब हम गाडी के पास है तो ये गाडी कैसे टो कर सकते है। जिसका जवाब पूछने के लिए गाडी मालिक कांस्टेबल के पास गए और गाडी निचे उतारने की बात। पुलिस कांस्टेबल बलिराम पाटिल ने मालिक से ये कहकर गाडी निचे उतारने से मना कर दिया की गाडी नो पार्किंग में पार्क करने के वजह से टो किया गया है। अब गाडी तभी वापस मिलेगी जब वो फाइन भरेंगे।

वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि जब कांस्टेबल ने गाडी देने से मना कर दिया तो गाडी मालिक वैन से गाडी उतारने की कोशिश करने लगे। उतने में टोइंग वैन ड्राइवर ने गाडी स्टार्ट कर दिया। कांस्टेबल गाडी का गेट बंद कर रहे थे तभी गाडी मालिक बीच में जा पहुंचे और दोनों के बीच जमकर बहस हुआ। गुस्साए कांस्टेबल ने गाडी से निचे उतरकर बुजुर्ग को थप्पड़ जड़ दिया। जवाब में बुजुर्ग ने भी कांस्टेबल पर हाथ छोड़ दिया। वैन के सभी कर्मचारी इक्कठा हो गए और जवाहर लुल्ला से बदसलूखी करने लगे। घटना के बाद से स्थानीय लोगों में नाराजगी है। वो सोशल मीडिया पर सवाल पूछ रहे है कि आखिर इस तरह बुजुर्ग व्यक्ति पर हाथ छोड़ने का पुलिस को अधिकार किसने दिया है।