/अब अपने पैरों पर खड़े होंगे ” लव और प्रिंस ” वाडिया अस्पताल ने ऑपरेशन कर किया था दोनों को अलग

अब अपने पैरों पर खड़े होंगे ” लव और प्रिंस ” वाडिया अस्पताल ने ऑपरेशन कर किया था दोनों को अलग

By -

मुंबई के वाडिया अस्पताल ने लव और प्रिंस नामक दो जुड़वे बच्चों का सफल ऑपरेशन कर उन्हें नई जिंदगी दी है। बता दे कि वाडिया अस्पताल ने दिसंबर महिने में शरीर से जुड़े बच्चे लव और प्रिंस का ऑपरेशन कर उन्हें एक दुसरे से अलग किया था। उसके बाद दोनों को डेढ़ महीने तक अस्पताल के डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया था। अब दोनों अपने पैरों पर खड़ा हो सकते है। और जल्द ही अस्पताल दोनों बच्चों को डिसचार्ज करने वाला है।

12 दिसंबर को वाडिया अस्पताल के 20 डॉक्टरों की टीम ने करीब बारह घंटे तक ऑपरेशन कर लव और प्रिंस को अलग किया था। दोनों ट्विन्स एक दुसरे से कमर और पेट से जुड़े हुए थे। डॉक्टर्स की माने तो दोनों बच्चों का लीवर , इन्टेस्टआइन और यूरिनरी ब्लैडर एक था। जिसे काटकर दो बनाया गया था। ऑपरेशन के बाद दोनों को एक हफ्ते तक वेंटीलेटर और तीन हफ्ते तक आईसीयू में रखा गया था।

लव और प्रिंस के माता पिता का कहना है कि हम अस्पताल प्रशासन को तहे दिल से धन्यवाद देना चाहते है। डॉक्टर और नर्स के कड़ी मेहनत का नतीजा है कि आज हमारे बच्चे डिफोर्मेद गेट की मदद से अपने पैरों पर खड़े होंगे। जन्म के बाद हमें उम्मीद नहीं थी कि कभी हमारे बच्चे अपने पैरों पर खड़े होंगे। आज हमारे बच्चे बिलकुल स्वस्थ है। ऑपरेशन डॉक्टरों के लिए चैलेंजिंग था। आज हमें गर्व है कि देश में वाडिया जैसा अस्पताल है।

वाडिया अस्पताल की CEO मिन्नी बोधान्वाला का कहना है कि हमें ख़ुशी हो रही है की आज वाडिया अस्पताल से लव और प्रिंस हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हो रहे है। वाडिया के हाथ ये तीसरी बड़ी कामयाबी है। यह ऑपरेशन चैलेंजिंग था । लेकिन डॉक्टर्स और नुर्सेस की कड़ी मेहनत ने नामुमकिन कार्य को मुमकिन कर दिया है।

बता दे कि लव और प्रिन्स का जन्म वाडिया अस्पताल में ही हुआ था। दोनों का जन्म समय से पहले हुआ था। लव और प्रिंस के माता पिता ने बताया कि जन्म के बाद अस्पताल ने हमसे लव और प्रिंस के इलाज के लिए एक नया पैसा नहीं लिया है।

ज्ञात हो की कुछ साल पहले वाडिया अस्पताल ने रिद्धि सिद्धि नामक जुड़वे बच्चों का इलाज कर उन्हें एक दुसरे से अलग किया था।